Tuesday, December 9, 2008

क्या लिखा जाए ...???

कुछ लिखा था जो अचानक असंगत सा लगने लगा...शायद ब्लोगिंग के रस्ते का नया राहगीर होने की वजह से या...! अभी डिलीट करना समझ नही आ रहा सो , एडिट के बहाने कुछ और लिखने से शायद काम चल जाए !
लेकिन सवाल यह उठता है कि आख़िर लिखा क्या जाए ?

क्या पाकिस्तान कि कारिस्तानिओं के बारे में लिखूं ...या अमेरिकी कोंडेलिसा राइस के दोंरों के बारे में....अज़हर मसूद को पाक ने उसके ही घर में नज़र बंद कर दिया है...वाह क्या सहयोग दिया जा रहा है...लेकिन पाकिस्तान से हमें इस से ज़्यादा कोई उम्मीद करनी भी नही चाहिए....ऐसे नाटक पाकिस्तान का पर्याय हैं...ढाक के वाही तीन पात !

उधर कसब नाम का पकड़ा गया आतंकी नित नए नाटक कर रहा है....कभी उसकी फरमाइश है कि उसे खाने में रोज़ गोश्त दिया जाए तो कभी उसे अमिताभ बच्चन कि फिल्मे देखनी हैं... कभी वह जीना चाह्ता है तो कभी मरने कि इल्तिजा करने लगता है.... दहशत और वेह्शत का नित नया ड्रामा !

इधर दिल्ली में सत्ता परिवर्तन का सपना देखने वालों की नींद टूटी और काफी बुरी तरह से टूटी। सत्ता के सिंहासन पर पुने: कांग्रेस ही आसीन हो गयी.... ! अब लोक सभा के चुनावों कि प्रतीक्षा है ...इधर भी , उधर भी !

और क्या लिखा जाए ?

पाँच तारिख की रात से ही हाई फीवर से ग्रस्त हूँ...सो न तो दिमाग चल रहा है और ना ही शरीर साथ दे रहा है...इसलिए अब यहीं रोकना होगा !

यह ब्लोगिंग भी काफी लती मामला है बॉस ! अमली होने के आसार काफी हैं.......

12 comments:

रचना गौड़ ’भारती’ said...

भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
www.zindagilive08.blogspot.com
आर्ट के लि‌ए देखें
www.chitrasansar.blogspot.com

प्रकाश बादल said...

swaagat hai aapkaa likhte rahen.

दिगम्बर नासवा said...

वाह भाई वाह...........क्या बात है
अलग अलग बात, क्या अंदाज है बात कहने का
अच्छा अंदाज़

संगीता पुरी said...

आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है.....आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे .....हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

प्रकाश गोविन्द said...

भइया हम लोग अवतारवादी लोग हैं !
अवतार के अवतरित होने में पूर्ण आस्था रखते हैं !
देखियेगा कोई न कोई प्रकट होगा और हमें उबार लेगा
सारी समस्यायों से ! हजारों साल से हमारी यही
मान्यता रही है और ये खंडित होने से रही !

रहा सवाल आतंकवाद का तो भइया अमेरिका जाने और
आतंकवादी जानें !
भारत ने एक बार फिर पुरानी लिस्ट में कुछ फेर बदल कर पाकिस्तान को भेज दिया है ! आखिरकार औपचारिकता भी
कोई चीज होती है !

आप चिंतित न हों सब ठीक हो जायेगा ! वैसे भी घटनाओं
को भूलने की हमारी क्षमता गजब की है !

आपको भी निश्चित रूप से तत्काल आराम मिला होगा ,,,,,
दिल का गुबार निकाल कर ,,,, है न ?

जल्दी स्वस्थ हों !
यही मंगल कामना है !

Jyotsna Pandey said...

चिट्ठाजगत में आपका हार्दिक स्वागत है
रचना पर टिपण्णी उसे पढ़ने के बाद दूँगी , शुभ-कामनाएं

मेरा ब्लाग आपकी टिपण्णी-सज्जा के लिए आतुर है कृप्या एक बार अवश्य पधारें

विवेक सिंह said...

लो हो गया लेख ! वैरी सिम्पल !

ई-गुरु राजीव said...

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !


ब्लॉग्स पण्डित - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

ई-गुरु राजीव said...

हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

शुभकामनाएं !


ब्लॉग्स पण्डित - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

ई-गुरु राजीव said...

आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ 'ब्लॉग्स पण्डित' पर.
यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर said...

हिन्दी ब्लॉग जगत में प्रवेश करने पर आप बधाई के पात्र हैं / आशा है की आप किसी न किसी रूप में मातृभाषा हिन्दी की श्री-वृद्धि में अपना योगदान करते रहेंगे!!!
इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए!!!!
स्वागतम्!
लिखिए, खूब लिखिए!!!!!


प्राइमरी का मास्टर का पीछा करें

Hindustani said...

सच कहा है
बहुत ... बहुत .. बहुत अच्छा लिखा है
हिन्दी चिठ्ठा विश्व में स्वागत है
टेम्पलेट अच्छा चुना है
कृपया वर्ड वेरिफ़िकेशन हटा दें .(हटाने के लिये देखे http://www.ucohindi.co.nr )
कृपया मेरा भी ब्लाग देखे और टिप्पणी दे
http://www.ucohindi.co.nr

चिट्ठाजगत
blograma
 
Site Meter